lirik.web.id
a b c d e f g h i j k l m n o p q r s t u v w x y z 0 1 2 3 4 5 6 7 8 9 #

lirik lagu anu malik – oonchi hai building 2.0

Loading...

ऊँची है बिल्डिंग
अरे लिफ्ट तेरी बंद है
हाँ
कैसे मैं आऊँ
अरे दिल रजामंद है

ऊँची है बिल्डिंग
अरे लिफ्ट तेरी बंद है
कैसे मैं आऊँ
अरे दिल रजामंद है

आहा.. आजा आजा
आजा मेरे सागर वाले राजा
तेरी याद सताए
दुल्हे राजा तू आजा आजा आजा
आजा बैंड बजा लेके आजा
तेरी याद सताए
दुल्हे राजा तू आजा

कैसे
ऊँची है बिल्डिंग
अरे लिफ्ट तेरी बंद है
हाँ
कैसे मैं आऊँ
अरे दिल रजामंद है
कैसे.. कैसे..

तेरे वास्ते दौड़ कर आऊंगा मैं
ए सौ सीढ़ियों को भी चढ़ जाऊँगा मैं

हाँ तू मेरा दिलबर है आना पड़ेगा
तुझे मेरा नखरा उठाना पड़ेगा

ओ तू आगे आगे मैं पीछे पीछे
हो चुम्वक की तरह मुझको तू खींचे

ए ए ए
कहाँ जा रहा है अंखियों को मींचे

माइकल की साइकिल के आएगा नीचे

ओ उतनी है दूर तू
जितनी करीब है
हाँ आँख मारती है
अरे लड़की अजीब है
लड़की अजीब है
लड़की लड़की..
लड़की अजीब है

ओ.. आजा आजा..
तेरी याद सताए..

आजा आजा
आजा मेरे सागर वाले राजा
तेरी याद सताए
दुल्हे राह टी आजा ना

कैसे
ऊँची है बिल्डिंग
अरे लिफ्ट तेरी बंद है
हाँ
कैसे मैं आऊँ
अरे दिल रजामंद है

आहा.. आजा आजा
आजा मेरे सागर वाले राजा
तेरी याद सताए
दुल्हे राजा तू आजा

आजा आजा
आजा मेरे सागर वाले राजा
तेरी याद सताए
दुल्हे राजा तू आजा आजा..